हैडलाइन

DIGITAL GAMBLING SE DESH KO HORAHA CARODO KA NUKSAAN FIR BHI SARKAR HAI CHUP!

ऑनलाइन लॉटरी, जुआ के मुद्दे पर बोले मुंडे सरकार को चूना लगा रहे हैं गैंबलिंग वाले ऑनलाइन लॉटरा वाले मालामाल, सरकार कंगाल जांच एजेंसियों को गुमराह करते माफिया! मुंबई। देश की जांच एजेंसियों को गुमराह कर भारत सहित विदेशो में ऑन लाइन लॉटरी, जुगाड़ के जाल में फंसा भारत का अरबों खरब रुपया! ऑनलाइन लॉटरी से राज्य सहित पूरे देश में खुलेआम करों की चोरी हो रही है। एक अनुमान के अनुसार सिर्फ मुंबई में प्रतिदिन ऑनलाइन लॉटरी से करीब 5 करोड़ का नुकसान हो रहा है। इस मुद्दे पर बीते सीत कालीन सत्र में विपक्ष नेता धनंजय मुंडे ने महाराष्ट्र सरकार को घेरा था। वही शिवसेना विधायक अनिल परब ने सरकार से सवाल किया था कि अवैध रूप से चल रहे ऑनलाइन लॉटरी, जुगाड़ से राज्य सरकार को करोड़ों का नुकसान हो रहा है। इसके बावजूद पुलिस कार्रवाई करने असमर्थ क्यों है। गौरतलब है कि इन दिनों अवैध रूप से चल रहे ऑनलाईन लॉटरी ने मुंबई सहित पूरे भारत को अपनी चपेट में ले लिया है। इससे देश का पैसा यूके और यूरोप में भेज रहा है। इतना ही नहीं आनलाइन जुगार की आड़ में हवाला का पैसा, कालेधन के रूप में धड़ल्ले से वारे न्यारे किए जा रहे है। सूत्रों के मुताबिक कथित लालचंद एबी ग्रुप चलाता है, जो पहले पाकिस्तानी था अब यूरोप का निवासी कहलाता है। इतना ही नहीं गुल और अन्य टीम भी एबी ग्रुप के निगरानी में चल रहे हैं। खबर के मुताबिक विंटिका ऑनलाईन कैसीनो कुराकाव से संचालित किया जा रहा है। सूत्र ये भी बताते हैं कि मोंटेनेग्रो और माल्टा के निगरानी में उक्त कैसीनो चलाया जा रहा है। शंकर जलंदर उर्फ चंदर और हमंत सूद नामक व्यक्ति दूसरा ग्रुप प्ले सेवन और लोटस नाम से ग्रुप चलाते हैं। इनके पास डिजिटल ऑनलाईन जुगाड़ की वेबसाइट चलाने का लाइसेंस है, लेकिन ये लाइसेंस कुराकाव से है इसी के आधार पर यह लोग गैरकानूनी करोबार को धड़ल्ले से चला रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि रोहित और सिद इसी के अंडर में हवाला, मनी लॉन्ड्रिंग का कारोबार भारत से दुबई और पाकिस्तान से चलाते हैं। सूत्रों का दावा है कि यह लोग दाऊद इब्राहिम का आदमी नोमान, दिलीप, जावेद चटनी के संपर्क में थे। जो हाल ही में गिरफ्तार हुआ था। टॉमी, जाकी अहमदाबाद भी भारत में डिजिटल आनलाइन जुगाड़ की वेबसाइट चलाते हैं और जुगाड़ की आड़ में भारत का पैसा विदेश में भेज रहे हैं। छानबीन से पता चला है कि ये लोग शासन और प्रशासन की आंखों में धूल झोंक रहे हैं। ऑनलाइन लॉटरी माफियाओं ने फिर एक बार जांच एजेंसियों को गुमराह करने के लिए अपने वेब पोर्टल का नाम बदलते रहते हैं। ताकि उनका गोरख धंधा चलता रहे। लुका चोरी के इस खेल में सरकार की विभिन्न योजनाओं पर भी असर पड़ रहा है। अवैध रूप से चल रहे ऑनलाइन लॉटरी के कारण मोदी सरकार की पेटीएम योजना पूरी तरह फेल साबित हुई है। इसके बाद भी लॉटरी माफियाओं पर कार्रवाई नहीं होने के कारण उनके हौसले बुलंद हैं और अब वेबसाईट का नाम बदल-बदल कर अवैध कमाई कर रहे हैं। LCEXCH.COM खबर के अनुसार इससे पहले कार्रवाई करते हुए मुंबई पुलिस ने अवैध रूप से संचालित विभिन्न वेब पोर्टलों को बंद कराया था। लेकिन लॉटरी माफियाओं ने अवैध रूप से चल रहे ऑनलाईन लॉटरी का नया वेब पोर्टल www.funrep. net के नाम से शुरू कर दिया है। इससे पहले www.gamekingindia.com और www.gamekingworld.com, planetgoonline.com के नाम से चौरसिया बंधुओं द्वारा सरकार को चूना लगाया जा रहा था। बताया जाता है कि अवैध रूप से चल रहे ऑनलाईन लॉटरी का जाल भारत सहित विश्व के अन्य कई देशों में फैला है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र के अर्थ संकल्प अधिवेशन में विरोधीपक्ष के नेता धनंजय मुंडे ने 19 मार्च 2018 को सरकार को घेरते हुए ऑनलाईन लॉटरी संचालकों का कड़ा विरोध किया था। इतना ही नहीं अवैध रूप से चल रहे ऑनलाईन लॉटरी से आम जनता सहित राज्य सरकार को होने वाले नुकसान पर भी सवाल उठाए थे। उन्होंने सरकार पर हमला करते हुए दावा किया था कि मध्य प्रदेश पुलिस चौरसिया बंधुओं को मुंबई से गिरफ्तार करने में कामयाब होती है। लेकिन महाराष्ट्र पुलिस की ढिलाई की वजह से चौरसिया बंधु उन्हें नहीं मिलते? पुलिस की ढिलाई की वजह से राज्य में ऑनलाई लॉटरी, सट्टा बाजार, जुआ और गैंबलिंग का कारोबार चरम पर है। वहीं इसके संचालक राज्य सरकार को अब तक हजारो करोड़ का चूना लगा चुके हैं और लगातार लगाते ही जा रहे हैं। मुंडे के बाद शिवसेना विधायक अनिल परब ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि अगर महाराष्ट्र पुलिस को ऑनलाई लॉटरी, सट्टा बाजारियो का पता नहीं मिलता है, तो मैं देता हुं। लेकिन शर्त है कि पुलिस को मेरे साथ चलना होगा। इन मुद्दों पर राज्य के गृहमंत्री ने गोल मटोल जवाब देते हुए कार्रवाई करने का अश्वासन दिया। इसके बाद भी राकांपा नेता मुंडे धनंजय ने कहा की आरटीआई कार्यकर्ता जावेद अहमद खान ने राज्य सरकार के हित में जो काम किया है, वहकाबिले तारीफ है। एक अन्य जानकारी के अनुसार ऑनलाई लॉटरी, सट्टा बाजार, जुआ और गैंबलिंग की वजह से भारत सरकार के कॅश लेस पॉलेसी (पेटीएम) आदि को बड़ा धक्का लगा है। इन सबके बाद भी चौरसिया बंधुओं द्वारा चोला बदल-बदल कर राज्य एवं केंद्र सरकार को बड़े पैमाने पर चूना लगाया जा रहा है। अनुमानित आंकड़ों के अनुसार 2011 से चल रहे अवैध ऑनलाई लॉटरी, गैंबलिंग की वजह से सरकार को करीब दस हजार करोड़ का नुकसान हो चुका है। पुलिस डाल-डाल तो चारसिया बंधुओं ने पात-पात चलना शुरू कर दिया है। इससे भारत सरकार की कई योजनाओं पर भारी असर पड़ रहा है। इसके बावजूद लॉटरी माफिया पुलिस की पकड़ से दूर हैं। उल्लेखनीय है कि विपक्ष के नेता धनंजय मुंडे और शिवसेना विधायक द्वारा मामले की पुष्ठी के बाद भी कार्रवाई के नाम पर शून्य है। इस मुद्दे पर आरटीआई कार्यकर्ता जावेद अहमद खान से बात करने पर उन्होंने कहा की चौरसिया बंधुओं के खिलाफ आवाज उठाने वालों को वे लोग तरह -तरह से परेशान करने के साथ-साथ झूठे मामलों में फंसाने की धमकी देते हैं। ताकि उनके कारोबर की पोल न खुले और वे इसी तरह सरकार को चूना लगाते रहें। हालांकि आईपीसी के विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तारी के बाद भी चौरसिया बंधुओं का कारोबार अब भी जोरों पर चल रहा है। इसकी जांच भारत सरकार की विशेष जांच एजेंसी के जरीये कराने से चौरसियां बंधुओं की पोल खुल जाएगी। Image Courtesy by Google


साप्ताहिक बातम्या